Important for His people to know
Satan erected the globe model on many layers of lies and deceptions. One of Satan's critical players to build up the globe deception in people's minds in the last century was 33 Degree Freemason Admiral Richard Byrd. This man encountered the dome in his Antarctica expeditions, and instead of proclaiming the dome's existence, he spread more layers of deception to hide Yah's firmament. Watch this video to uncover the evil perpetrated by this 'much acclaimed' explorer. 
उद्धार व्यक्तिगत उपहार है: समूह उपहार नहीं

उद्धार एक उपहार है, लेकिन उस उपहार को प्रत्येक व्यक्ति अपने लिए स्वीकार करना होगा। कोई भी व्यक्ति किसी और के लिए उद्धार स्वीकार नहीं कर सकता!

Comments: 0 
Hits: 33 
दिव्य मार्गदर्शन: सीखिए कैसे व्यक्तिगत रूप से याह के इच्छा को जान सकें।

पृथ्वी के अंतिम संकट के समय से गुजरने वाले प्रत्येक विश्वासी व्यक्ति को, जितना प्रेरितों के समय में अनुभव किया गया, उससे भी कहीं ज्यादा स्वर्गीय पिता के साथ एक करीबी, और अधिक महत्वपूर्ण संबंध की आवश्यकता होगी। हर विश्वासी को व्यक्तिगत मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है क्योंकि हर व्यक्ति की व्यक्तिगत स्थिति बहुत अलग होती है। इसके लिए पिता के साथ न केवल व्यक्तिगत संबंध की आवश्यकता होती है, बल्कि जब वह आपसे बात करता है तो उसकी आवाज़ सुनने और पहचानने की क्षमता की भी आवश्यकता होती है।

Comments: 0 
Hits: 47 
आपके विश्वास को बढ़ाने के लिए ४ सरल कदम!

विश्वास वह हाथ है जो याह के वादों को पकडकर रखता है और स्वर्ग के महान से महान वादों को विनम्र विश्वासी के पास लाता है।

Comments: 0 
Hits: 40 
सोचते हैं कि क्यों बुरे चीज़े होते हैं?

इस दुख भरी दुनिया में, दुखी दिल जानना चाहता है कि, क्यों? अगर याहुवाह प्रेम हैं, तो क्यों बुरे चीज़ें होने से नहीं रोकते हैं? वास्तव में, बहुत अच्छे वजह हैं कि क्यों याहुवाह हमेशा त्रासदियों को रोकता नहीं है, लेकिन वह हमेशा हर कदम पर मजबूत और प्रोत्साहित करने के लिए मौजूद रहता है।

Comments: 0 
Hits: 45 
याहुशुआ: हमारा महायाजक

याहुवाह के अनंत ज्ञान और असीम प्रेम ने एक योजना बनाई जिससे पापी मनुष्य को दिव्य कृपा में बहाल किया जा सके। इस योजना ने मानव जाति को शैतान के नियंत्रण से, और कानूनी छुडौती से भी कहीं ज्यादा ऊँचा उठाया। यह मानव आत्मा के अंदर दिव्य चरित्र की बहाली भी कहलायी जाता है। और यह वही काम है जिसे याहुशुआ अभी भी करने में लगा हुआ है।

Comments: 0 
Hits: 89 
याहुवाह की मुहर

याहुवाह की मुहर धरती पर उपस्थित हर जीवित आत्मा के लिए एक बहुमूल्य उपहार है। जब याहुवाह के क्रोध का कटोरा (जो बिना कृपा का होगा) इस पापी और अपश्चातापी दुनिया पर उंडेला जाएगा तब सिर्फ याहुवाह की मुहर ही अनंत जीवन और जरूरी आत्मिक सुरक्षा दे सकती है।

Comments: 0 
Hits: 100 
पवित्रशास्त्र का स्मरण करना : यह जीवन और मृत्यु का मामला है

पवित्रशास्त्र, मसीही विश्वास के तथ्यों या सिद्धांतों का सुदृढ़ आधार है। यह अनंत जीवन की ओर याह की प्रेरणा का दिशा-निर्देशा है। सभी, जो सच्चे दिल से याहुवाह और उनकी धार्मिकता का अनुकरण करते हैं, वे बाइबिल कि अध्ययन करने और उसमें रहने वाले जीवित शब्दों को याद करने को प्रतिबद्ध करने कि आदत डालेंगे। याहुवाह के वचन के अध्ययन की उपेक्षा करना जीवन पर मृत्यु का चुनना होगा। यह इतनी गंभीर बात है, क्योंकि यदि हम उनके वचन की बढ़ती हुई रोशनी में नहीं चल रहे हैं, तो हम मृत्यु की छाया के बढ़ते अंधेरे में बैठे रह जाते हैं।

Comments: 0 
Hits: 152 
ब्रह्मांड में सबसे शक्तिशाली वादा!
याहुवाह चाहते हैं कि उनके नाम में रहने वाले वादे को जानें और उसका उपयोग करें। इसलिए पवित्रशास्त्र बार-बार विश्वासीयों को “याहुवाह के नाम पर पुकारने” की आग्रह करता है।
Comments: 0 
Hits: 190 
याहुशुआ : मेरे लिए उसका जीवन
यह सच कि याहुशुआ “जो हर एक पक्ष में हमारे समान ही परखे गए फिर भी निष्पाप ही रहे;” सब को प्रोत्साहित करता है कि हम भी जयवंत हो सकते जिस प्रकार से हमारे मसीह जयवंत हुए। पाप और शैतान की लड़ाई में याहुशुआ की निरंतर जीत का रहस्य उसके पिता की शक्ति पर उसकी लगातार निर्भरता में पाया गया। वह ऐसा कोई भी शक्ति का अभ्यास नहीं किया जो हम विश्वास के द्वारा नहीं कर सकते।
Comments: 0 
Hits: 227 
पृथ्वी में से पशु: भविष्यवाणी में संयुक्त राष्ट्र

प्रकाशितवाक्य की पुस्तक एक दिव्य उपहार है। इसमें, याहुवाह ने अपने लोगों को आगे के दिनों के बारे में जानने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। प्रतीकों का उपयोग करके, स्वर्ग ने उन प्राथमिक शक्तियों को प्रकट किया है जो याहुशुआ के दूसरे आगमन से ठीक पहले उसके संतों के भेष में याहुवाह का विरुद्ध युद्ध करेंगे। भविष्यवाणी ने पूर्व सूचना दी कि सभी शक्तियों में से एक जो पूरी पृथ्वी पर महान अधिकार का प्रयोग करेगा वो संयुक्त राज्य अमेरिका है!

Comments: 0 
Hits: 326 
पूरा चुका दिया
खतना का नियम और याहुवाह के लोगों के लिए ये अब क्यों जरूरी नहीं है इसका एक बाइबिल आधारित अध्ययन।
Comments: 0 
Hits: 344 
अश्लील सामग्री देखना: आत्मा को नष्ट करता है!
हर पापमयी कार्य की जड़ जो हमेशा पापमयी स्वभाव में पाई जाती है वो हृदय में बसी हुई होती है। एक पाप जो सभी आयु वर्गों के शादीशुदा और कुवारों में तेजी से महामारी का रूप लेकर पहुँच गया वो पोर्नोग्राफ़ी है। जो लोग पोर्नोग्राफी की सड़क पर यात्रा करते हैं अंततः उनका चरित्र विनाश पर ही खत्म होगा।
Comments: 0 
Hits: 2080 
अन्य भाषाओं में बोलना
याहुवाह ने पृथ्वी पर अपने लोगों के ऊपर प्रचुर दान प्रदान कर दिये है। सबसे पेचीदा, और अभी तक कम समझा गया स्वर्ग से प्रदान किया गया दान, भाषाओं में बोलने का है। यह लेख जांच करता है कि धर्मशास्त्र के अनुसार “भाषाओं में बोलने’ का असली अर्थ क्या होता है।
Comments: 0 
Hits: 846 
समलैंगिको के लिए याह का प्रेम
दुर्भाग्यवश, कई लोग जो “मसीही” होने का दावा करते हैं, अक्सर दूसरों कि नंदा करते हैं जिनके पाप उनके आपने पापों से कम या अलग या कम माने जाते हैं। शायद इस दुखद सत्य को इतनी स्पष्टता से कहीं और नहीं दिखाया जाता है जितना कि समलैंगिकता के विषय में दिखाया जाता है। पवित्रशास्त्र बहुत ही स्पष्ट है कि, समलैंगिकता एक पाप है और कोई भी पापी, भले ही किसी भी तरह का पाप क्यों न हो, स्वर्ग में प्रवेश नहीं करेगा। यदि कोई भी अनंत जीवन को पाना चाहेगा उसे दूसरे तरह के पापों के साथ ही साथ, समलैंगिकता के पाप को भी याहुशुआ के हवाले कर देना चाहिए।
Comments: 0 
Hits: 774 
हस्तमैथुन की लत
कई तरह से शैतान आत्मा को भ्रष्ट करने और पवित्रता को नष्ट करने की कोशिश करता है, जोकि यौन अशुद्धता है। व्यभिचार, परस्त्रीगमन और अश्लील साहित्य को व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है, जो मन को भ्रष्ट करते हैं और शैतान के प्रलोभनों को रोकने वाले दरवाज़ों को और भी अधिक खोलते हैं। हालांकि, एक और क्षेत्र भी है जो आत्मा को शैतान के नियंत्रण में लाता है। विषय की असुविधा के कारण इसकी अक्सर चर्चा नहीं की जाती। वो क्षेत्र है हस्तमैथुन।
Comments: 0 
Hits: 1329 
टूटे बाडे के सुधारक
स्वर्ग के सभी नियुक्त समयों पर उपासना के दिनों को बहाल करना दुनिया के अंत के निकट होने का चिन्ह है। इन अंतिम दिनों में विश्वासी, याहुवाह के पर्वों का पालन करेंगे क्योंकि वे व्यवस्था का पालन करने वाले जन हैं, व्यवस्था को तोड़ने वाले नहीं। याहुवाह की व्यवस्था उनके लिए बहुत ही कीमती है और वे अपनी प्रेम-मयी आज्ञाकारिता के द्वारा अपने बनाने वाले का आदर करते हैं।
Comments: 0 
Hits: 624 
अंधियारा दूर करना :दिन कब शुरू होता है?
विरोधी ने सातवें-दिन सब्बात को खोजने के उपयोग में होने वाले कैलेंडर को बदलने के द्वारा सृष्टिकर्ता को योग्य उपासना को चुरा लिया। परंतु सिर्फ यही नहीं जो उसने बदल दिया। बल्कि उसने यह भी बदल दिया कि दिन कब शुरू होता है!
Comments: 0 
Hits: 739 
महान और कीमती वादे।

पृथ्वी के इतिहास के इन बंद होते दिनों में अनंत जीवन प्राप्त करने की वास्तविक कीमत अब सुस्पष्ट रूप से प्रकट है। स्वर्ग को पाने के लिए सब कुछ देने की आवश्यकता होगी। नई परिस्थितियां उठेंगी जो मानव ज्ञान की तुलना में अधिक बुलायेंगी। इसमें भी, जिस प्रकार अन्य परिस्थितियों में, याहुवाह ने हर समस्या के लिए एक समाधान उपलब्ध कराया है। याहुवाह के वचन में जो यह कहता है करने की शक्ति होती है। इसलिए, उसके सबसे बड़े और कीमती वादों की मांग करें! वे आपके लिए उसका उपहार है। आप सुरक्षित रूप से सभी वादों पर आराम कर सकते हैं, क्योंकि वे याह के वचन और उसमें जो वो कहते हैं करने की शक्ति है।

Comments: 0 
Hits: 1903 
पौलुस व गलातियों

बहुत से लोग आज गलातियों की पुस्तक से भ्रमित हो गये है। रविवार का पालन करने वाले दावा करते है कि सब्बात क्रुस पर चढ़ा दिया गया था। शनिवार का पालन करने वाले उन्हीं पदों का उपयोग यह दावा करने के लिए करते हैं कि याहुवाह के पर्व अब और बाध्यकारी नहीं है। हालांकि, शामिल मुद्दों की एक समझ पूरी तरह से कुछ और ही प्रकट करती है।

Comments: 0 
Hits: 1759 
व्यवस्था के अधीन? या अनुग्रह के अधीन?

“और तुम पर पाप की प्रभुता न होगी, क्योंकि तुम व्यवस्था के आधीन नहीं वरन अनुग्रह के आधीन हो” (रोमियो ६:१४)॥  इस पद के दुरुपयोग अनजाने में लाखों लोगों की शैतान के विद्रोह का समर्थन करने में अगुवाई की है! क्या आप उनमें से एक हैं? एक बाईबल आधारित तहकीकात कि सही मायने में “अनुग्रह के अधीन” होने का मतलब क्या होता है।  

Comments: 0 
Hits: 1767 

Loading...
Loading the next set of posts...
No more posts to show.